शपथ ग्रहण से पहले अजित पवार गायब, मोबाइल स्विच ऑफ

0

मुंबई: महाराष्ट्र में शपथ ग्रहण से ठीक पहले एनसीपी के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने फिर से एक बार हड़कंप मचा दिया है। बताया जाता है कि शपथ ग्रहण समारोह से पहले उनका मोबाइल स्विच ऑफ है और वो कहां हैं खबर लिखे जाने तक इसके बारे मे किसी को कोई जानकारी नहीं है. एनसीपी के एक प्रवक्ता का कहना है कि वो लापता नहीं हैं। उन्होंने अपना मोबाइल इसलिए बंद किया है क्योंकि लोग उन्हें बार-बार कॉल करके परेशान कर रहे थे. पार्टी की तरफ से कहा गया है कि अजित पवार शपथ ग्रहण समारोह में जरूर पहुंचेंगे.

विदित है कि आज शाम को महाराष्ट्र में कांग्रेसी एनसीपी और शिवसेना की खिचड़ी सरकार का शपथ ग्रहण समारोह है। इसके लिए शिवसेना ने जबरदस्त तैयारी की है। खबरों के मुताबिक अजित पवार के रोल को लेकर फिलहाल तस्वीर साफ नहीं है. उन्हें सरकार में क्या जिम्मेदारी दी जाएगी इसको लेकर न तो गठबंधन की तरफ से और न ही एनसीपी की तरफ से कुछ भी कहा गया है. कहा जा रहा है कि पवार नई सरकार में बड़े पद की मांग कर रहे हैं.

‘मैं एनसीपी में हूं’

एक दिन पहले मीडिया से बात करते हुए अजित पवार ने साफ कर दिया कि वो एनसीपी में ही बने रहेंगे. अजित पवार ने कहा, “मैं एनसीपी में हूं, इस बारे में भ्रम ‘पैदा करने’ की कोई वजह नहीं है.”अजित पवार ने कहा, ‘अभी मेरे पास कहने के लिए कुछ नहीं है, मैं सही समय आने पर बोलूंगा. मैंने पहले भी कहा था कि मैं एनसीपी में हूं और मैं एनसीपी में ही रहूंगा.’ 4 दिन के उपमुख्यमंत्री

बता दें कि पिछले शनिवार को महाराष्ट्र की राजनीति में अचानक भूचाल आ गया था. अजित पवार ने अपने चाचा शरद पवार के खिलाफ बगावत कर बीजेपी से हाथ मिला लिया. देवेंद्र फडणवीस मुख्यमंत्री और अजित पवार रातों रात उपमुख्यमंत्री बन गए. लेकिन फ्लोर टेस्ट से एक दिन पहले अजित पवार ने पाला बदल लिया. लिहाजा सिर्फ चार दिन में ही बीजेपी की सरकार गिर गई.