संजीवनी वाहन – ऑक्सीजन ट्रक का लॉन्च

0

रांची- जब अस्पताल में लोग ऑक्सीजन के लिए जूझ रहे हैं, झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन एसओएस के मामले में मंगलवार को राज्य की राजधानी रांची के किसी भी अस्पताल में पहुंचने के लिए ‘संजीवनी वाहन’ – ऑक्सीजन ट्रक लॉन्च किए गए। मुख्यमंत्री ने कहा कि संजीवनी वाहन 24X7 ऑपरेशन मोड में रहेंगे। इन वाहनों में ऑक्सीजन सिलेंडर हमेशा उपलब्ध रहेगा।सोरेन ने कहा कि पूरे देश में कोविद -19 महामारी से प्रतिकूल प्रभाव पड़ा और झारखंड कोई अपवाद नहीं था। अस्‍पतालों में ऑक्‍सीजन की आपूर्ति में विलंब या विराम से होने वाली मौतों को टालने के लिए हेमन्‍त सरकार ने संजीवनी वाहन के रूप में वैकल्पिक इंतजाम किया है। सातों दिन, चौबीसों घंटे ये वाहन अलर्ट मोड में रहेंगे। जहां से सूचना मिलेगी तत्‍काल वहां ऑक्‍सीजन सिलेंडर पहुंचाया जायेगा। बेहतर निगरानी के लिए इन वाहनों को जीपीएस से लैस किया गया है। ऑक्‍सीजन कम या खत्‍म होने की जिस किसी अस्‍पताल से सूचना मिलेगी, पहले से पूरी तरह तैयार वाहन वहां के लिए रवाना हो जायेंगे। राज्य सरकार जो स्थिति पर करीब से नजर रख रही है, उसने ‘संजीवनी वाहन’ की पहल की है, जिसके तहत ऑक्सीजन केंद्र वाले ट्रक संकट की स्थिति में किसी भी अस्पताल में पहुंचेंगे।

इसी तरह के वाहनों को धनबाद और जमशेदपुर सहित अन्य जिलों में तैनात करने की योजना है।राज्य सरकार जो स्थिति पर करीब से नजर रख रही है, उसने ‘संजीवनी वाहन’ की पहल की है, जिसके तहत ऑक्सीजन केंद्र वाले ट्रक संकट की स्थिति में किसी भी अस्पताल में पहुंचेंगे।