सिंधु बॉर्डर पर आंदोलनकारी किसानों और स्थानीय लोगों में झड़प,पथराव,पुलिस वालों पर फिर हमला,टिकारी बॉर्डर पर भी स्थानीय लोग जूटे,स्थिति तनावपूर्ण

0

एजेंसी: सिंधु बॉर्डर पर आंदोलनकारी किसानों के चलते जाम होने के कारण परेशान स्थानीय लोगों ने सिंधु बॉर्डर खाली करवाने के लिए आंदोलनकारियों से बात करने के लिए पहुंचे इसी बीच आंदोलनकारी कथित किसानों और स्थानीय लोगों के बीच झड़प हो गई। लाठी-डंडे चलने शुरू हो गए। पथराव शुरू हो गये। पुलिस स्थिति संभालने गई तो पुलिस पर भी हमला करने की खबर है जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल बताए जाते हैं। स्थिति को संभालने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी छोड़े हैं और लाठीचार्ज भी किया है।

इस दौरान चार पांच पुलिसकर्मियों के घायल होने की खबर है। वही अलीपुर थाने के एसएचओ प्रदीप पालीवाल पर तलवार से हमला किया गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि किसान नेता सतनाम सिंह पन्नू के कहने पर ही आंदोलनकारी उन पर हमला किया।इस मामले में एक हमलावर को हिरासत में लिया गया है।दो अन्य किसान नेताओं पर भी एसएचओ पर हमले का आरोप लगने की खबर हैं।

खबरों के अनुसार सिद्धू बॉर्डर पर खबर लिखे जाने पर पथराव जारी है। किसानों के वेष में उपद्रवी लगातार पत्थरबाजी कर रहे हैं।

इधर बॉर्डर खाली कराने की मांग को लेकर स्थानीय प्रदर्शनकारियों ने सिंधु बॉर्डर से कथित किसान आंदोलनकारियों के तंबू उखाड़ना शुरू कर दिया है।

इधर खबरों के मुताबिक टिकारी बॉर्डर पर वरीय स्थानीय लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई है। जो कथित किसान आंदोलनकारियों को बॉर्डर खाली कराने की मांग के लिए लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। वहां भी स्थिति तनावपूर्ण रहने की खबर है। टिकारी बॉर्डर पर तिरंगा लेकर स्थानीय लोग मार्च कर रहे हैं।

इस दौरान नारा लगाया जा रहा तिरंगा का अपमान नहीं सहेगा हिंदुस्तान।