सिल्ली हाट बाजार में राजस्व वसूली को लेकर सीओ ने की बैठक

0

संवाददाता:- प्रविन्द पाण्डे

सिल्ली:- 3 अप्रैल बाजारों में अब कारोबार करना हो या कोई ढुलाई करनी हो या बाजार में कुछ बेचना हो तो अब प्रत्येक छोटे बड़े दुकान लगाने वालों को सरकार को मासुल देंने होंगे। इसके लिए सिल्ली अंचल सह प्रखंड सभागार में शनिवार को सिल्ली हाट बाजार में राजस्व (मासुल) वसूली को लेकर अंचलाधिकारी गिरिजा नंदन किस्कू की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित की गई। बैठक में प्रखंड विकास पदाधिकारी पवन आशीष लकड़ा, जिप सदस्य वीणा देवी, उपप्रमुख प्रफुल्ल कुम्हार, विधायक प्रतिनिधि, सांसद प्रतिनिधि समेत काफी संख्या में लोग शामिल हुए।

बैठक में हाट बाजार से राजस्व वसूली को लेकर विस्तृत चर्चा की गई एवं सर्वसम्मति से यह फैसला लिया गया कि आगामी 5 अप्रैल सोमवार से सिल्ली बाजार में राजस्व वसूली का उठाव किया जायेगा। वसूली राजस्व निरीक्षक, प्रखंड कार्यालय के पंचायत सेवक एवं ग्राम सेवक व पुलिस बल के सहयोग से किया जायेगा। अंचलाधिकारी ने जानकारी दी कि विकास आयुक्त सह कार्यपालक पदाधिकारी जिला परिषद रांची के निर्देशानुसार चालू वित्तीय वर्ष में हाटों की बंदोबस्ती होने तक राजस्व हित में विभाग हाटों में राजस्व की वसूली करेगा। बैठक में मासुल की दरें तय की गई. जिसमें धानगाड़ी के लिये 1500 रुपए, 407 ट्रक 500, टेंपो 100 एवं पिकअप वैन से 200 रूपए प्रति ट्रिप लिया जायेगा। वहीं प्रतिदिन हाट में लगने वाले मीट दुकान से100 रुपए, मुर्गा दुकान 50 रूपए, मछली दुकान 30 रुपए एवं प्रत्येक सब्जी दुकानदारों को 20 रूपया प्रतिदिन देने होंगे. इसके अलावे जूता चप्पल एवं कपड़ा दुकानदारों को साप्ताहिक हाट में प्रत्येक सोमवार को 50 रूपए शुल्क देने होंगे।इस मौके पर सांसद प्रतिनिधि रघुवीर महतो, विधायक प्रतिनिधि जितेंद्र बड़ाईक, बीएसओ रविंद्र बड़ाईक, पीएसआई विरेंद्र चौड़े, लक्ष्मी नारायण महतो, भरत देव साय, सिल्ली लेंम्स अध्यक्ष सुरेश मुंडा, पंचायत सचिव प्रदीप महतो आदि उपस्थित थे।