सील किया गया प्रतिबंधित गुटखा के गोदामथा,से चोरी की जा रही

0

रांची- अरगोड़ा इलाके के हरमू हाउसिग कॉलोनी में जिस प्रतिबंधित गुटखा के गोदाम को जिला प्रशासन ने सील किया था, वहां से चोरी की जा रही थी। चोरी की सूचना मिलते ही पुलिस ने चोरी कर रहे आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार आरोपितों में व्यवसायी पिटू उर्फ ईशान, ट्रक के स्टाफ और व्यवसायी के सहयोगी शामिल हैं। हालांकि मौके से ट्रक का मालिक फरार हो गया। गिरफ्तार सभी आरोपितों को जेल भेज दिया गया है। बताया जा रहा है किव्यवसायी पिटू उर्फ इशान मुख्य आरोपित है।

पूछताछ में पुलिस को यह जानकारी मिली कि भवन में 40 बोरा गुटखा रखा हुआ था। इसे एक साल पहले एसडीओ के निर्देश पर सील किया गया था। उसी भवन का ताला तोड़कर इशान अपने साथियों के साथ मिलकर ट्रक लगाकर शनिवार की रात चोरी कर रहा था। गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस की टीम ने छापेमारी की। इस दौरान पुलिस ने आरोपितों को दबोच लिया। वहीं ट्रक मालिक निखिल मौके पर से फरार हो गया। पुलिस ने ट्रक को भी जब्त कर लिया। एक साल पहले किया गया था सील : जानकारी के अनुसार रांची के तत्कालीन एसडीओ लोकेश मिश्रा को यह शिकायत मिली थी कि हरमू हाउसिग कॉलोनी में बड़े पैमाने पर पिटू उर्फ इशान गुटखा की बिक्री कर रहा है। इसी शिकायत के आधार पर एसडीओ ने अरगोड़ा थाने की पुलिस के सहयोग से एक साल पहले उस भवन में छापेमारी की थी।

इस दौरान भारी मात्रा में गुटखा बरामद किया गया था। एसडीओ के निर्देश पर गुटखा समेत भवन को सील कर दिया गया था। साथ ही पिटू पर प्राथमिकी भी दर्ज की गई थी। ये किए गए गिरफ्तार। बरियातू हरिहर सिंह रोड निवासी पिटू कुमार उर्फ ईशान, जितेंद्र प्रजापति, नीरज कुमार, सुखदेव नगर थाना क्षेत्र के इरगुटोली बगान चौक निवासी राज सोनी, बिहार के भोजपुर जिला के तरारी थाना क्षेत्र के कोसीडिहरा गांव निवासी पिटू यादव और राजन प्रसाद। जानकारी के अनुसार जिस सील गोदाम से गुटखा की चोरी की जा रही थी, वहां के स्थानीय लोगों ने देख लिया था। इसके बाद विरोध और हंगामा शुरू हो गया। स्थानीय लोगों के हंगामे के बीच वहां पुलिस पहुंची थी और गोदाम चलाने का मास्टरमाइंड ईशान सहित छह को दबोच लिया। ईशान की तैयारी थी कि गोदाम से सारा गुटखा निकालकर उसे बाजार में बेच दिया जाए और साक्ष्य को नष्ट कर दिया जाए।