हेमंत सोरेन ने केंद्र सरकार को बांग्‍लादेश से रेमेडिसविर इंजेक्‍शन के आयात की अनुमति के लिए पत्र लिखा

0

झारखंड- कोरोना संक्रमण की वजह से इस समय हर तरफ हाहाकार मचा हुआ है। इस बीच झारखंड में बीते 24 घंटे में कोविड-19 के 3992 नए मामले आने के साथ 50 मरीजों की मौत से हड़कंप मच गया है। राज्‍य में अब तक कुल 1,62,945 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है, तो इस महामारी से जान गंवाने वालों की संख्‍या 1456 हो गई है। इस बीच देशभर में कोरोना की दवा रेमेडिसविर (Remdesivir) की कमी देखने को मिल रही है। हालांकि केंद्र सरकार ने रेमेडिसविर के निर्यात पर रोक लगाने के साथ तेजी से उत्‍पादन के लिए निर्देश जारी किए हैं। जबकि झारखंड भी रेमेडिसविर इंजेक्शन की कमी से जूझ रहा है। वहीं, राज्‍य के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) ने केंद्र सरकार से बांग्‍लादेश से एंटीवायरल ड्रग रेमेडिसविर के आयात की अनुमति मांगी है।

झारखंड में कोरोना लगातार पैर पसार रहा है और हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। इस बीच मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने केंद्र सरकार को बांग्‍लादेश से रेमेडिसविर इंजेक्‍शन के आयात की अनुमति के लिए पत्र लिखा है।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘ झारखंड में कोरोना के गंभीर रोगियों और रेमेडिसविर की बढ़ती मांग के साथ हम आपातकालीन उपयोग के लिए लगभग 50,000 इंजेक्‍शन की खरीदने के लिए बांग्लादेश की फार्मा कंपनियों तक पहुंच गए हैं। मैंने (केंद्रीय मंत्री) डीवी सदानंद गौड़ा से जल्द से जल्द आयात करने की अनुमति के लिए पत्र लिखा है।’