1 बजे तक 45.41% मतदान, मुख्यमंत्री सहित प्रत्याशियों ने किया मतदान

0

झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में आज 7 जिलों के 20 विधानसभा सीटों पर पूर्वाह्न 1 बजे तक प्राप्त आंकड़ों के अनुसार कुल 45.41% मतदाताओं ने अपने वोट डाले हैं।

रिपोर्ट 1 PM- 45.41% मतदान

अपराह्न 01 बजे तक
कुल 45.41% मतदाताओं ने अपने वोट डाले हैं।

7 जिलों में जिलावार वोट निम्न रहा
पूर्वी सिंहभूम-42.72%
पश्चिमी सिंहभूम-44.73%
सरायकेला-खरसावां-47.36%
राँची-49.64%
गुमला-54.56%
खूंटी-44.85%
सिमडेगा-45.68%

20 विधानसभा सीटों पर वोट का प्रतिशत निम्न रहा
44-बहरागोड़ा-52.20%
45-घाटशिला-49.90%
46-पोटका-48.00%
47-जुगसलाई -44.10%
48-जमशेदपुर (पूर्वी)-34.90%
49-जमशेदपुर (पश्चिमी)-33.00%
51-सरायकेला-46.23%
52-चाईबासा-42.72%
53-मझगांव-51.09%
54-जगन्नाथपुर-46.17%
55-मनोहरपुर-38.51%
56-चक्रधरपुर-46.41%
57-खरसावां-49.17%
58-तमाड़-49.31%
59-तोरपा-43.57%
60-खूंटी-45.96%
66-मांडर-49.84%
67-सिसई-54.56%
70-सिमडेगा-45.40%
71-कोलेबिरा-46.00%

प्रत्याशियों ने किया मतदान

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने जमशेदपुए के भालूबासा में हरिजन स्कुल स्थित मतदान केंद्र पर सपरिवार मतदान किया। पूर्वी जमशेदपुर से निर्दलीय प्रत्याशी सरयू राय ने अप्नवे मताधिकार का प्रयोग किया। केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने आज झारखंड विधानसभा के दूसरे चरण के मतदान में खरसावां के खिलारीसाई में अपनी पत्नी श्रीमती मीरा मुंडा के साथ आज मतदान किये।

खूंटी सहित सभी क्षेत्रों में दिव्यांग मतदाताओं के उत्साह

झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 के दूसरे चरण में एक सकरात्मक पहल देखने को मिली जिसमें खूंटी के दिव्यांग मतदाताओं के उत्साह को और अधिक बढ़ाने के लिए यहाँ के प्रशासन द्वारा दिव्यांग मतदाताओं का स्वागत पुष्प गुच्छ देकर किया गया।

दिव्यांगता मतदान में बाधा नहीं है। हम लोकतंत्र की मजबूती के लिए वोट कर रहे हैं। हर एक मतदाता अपने मताधिकार का पूर्ण प्रयोग करें। दिव्यांग मतदाताओं ने विधानसभा चुनाव में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेते हुए यह बात कही।

ज्ञात हो कि निर्वाचन आयोग द्वारा दिव्यांग मतदाताओं के लिए बूथों पर आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई गई है। दिव्यांग मतदाताओं को प्राप्त सहयोग और सुविधा से उनके खिलखिलाते चेहरों पर सुदृढ़ लोकतंत्र के निर्माण करने के लिए विशेष उत्साह देखने को मिला। इन मतदाताओं के इस सकारात्मक कदम से और भी मतदाताओं को प्रेरणा मिली है।