26 मार्च : आज का पंचाग और राशिफ़ल

0

🌞 ~ आज का पंचांग ~ 🌞
⛅ दिनांक 26 मार्च 2020
⛅ दिन – गुरुवार
⛅ विक्रम संवत – 2077 (गुजरात – 2076)
⛅ शक संवत – 1942
⛅ अयन – उत्तरायण
⛅ ऋतु – वसंत
⛅ मास – चैत्र
⛅ पक्ष – शुक्ल
⛅ तिथि – द्वितीया रात्रि 07:53 तक तत्पश्चात तृतीया
⛅ नक्षत्र – रेवती सुबह 07:17 तक तत्पश्चात अश्विनी
⛅ योग – इन्द्र शाम 04:29 तक तत्पश्चात वैधृति
⛅ राहुकाल – दोपहर 02:04 से शाम 03:35 तक
⛅ सूर्योदय – 06:38
⛅ सूर्यास्त – 18:50
⛅ दिशाशूल – दक्षिण दिशा में
⛅ *व्रत पर्व विवरण –
💥 विशेष – द्वितीया को बृहती (छोटा बैंगन या कटेहरी) खाना निषिद्ध है।

🌷 पेट की सभी बीमारियाँ मिटाने हेतु 🌷
🙏🏻 लिंग पुराण (८५.१९३-१९४) में आता है कि एक मास तक प्रतिदिन १०८ बार ‘ॐ नम: शिवाय|’ मंत्र का जप करके सूर्यनारायण के सामने जल पीने से पेट की सभी बीमारियाँ दूर हो जाती है |
🙏🏻 ऋषिप्रसाद – मार्च २०२० से

🌷 चैत्र नवरात्रि 🌷
🙏🏻 चैत्र मास के नवरात्रि का आरंभ 25 मार्च, बुधवार से हो गया है। मान्यता है कि नवरात्रि में रोज देवी को अलग-अलग भोग लगाने से तथा बाद में इन चीजों का दान करने से हर मनोकामना पूरी हो जाती है। जानिए नवरात्रि में किस तिथि को देवी को क्या भोग लगाएं-
👉🏻 गताअं से आगे………..
🙏🏻 नवरात्रि की द्वितीया तिथि यानी दूसरे दिन माता दुर्गा को शक्कर का भोग लगाएं ।इससे उम्र लंबी होती है ।
👉🏻 शेष कल…………

🌷 चैत्र नवरात्रि 🌷
🙏🏻 चैत्र मास की शुक्ल प्रतिपदा से नवमी तिथि तक वासंतिक नवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। इस बार वासंतिक नवरात्रि का प्रारंभ 25 मार्च, बुधवार से हो गया है, धर्म ग्रंथों के अनुसार, नवरात्रि में हर तिथि पर माता के एक विशेष रूप का पूजन करने से भक्त की हर मनोकामना पूरी होती है। जानिए नवरात्रि में किस दिन देवी के कौन से स्वरूप की पूजा करें-

👉🏻 गताअं से आगे………..
🌷 तप की शक्ति का प्रतीक है मां ब्रह्मचारिणी
🙏🏻 नवरात्रि की द्वितीया तिथि पर मां ब्रह्मचारिणी की पूजा होती है। देवी ब्रह्मचारिणी ब्रह्म शक्ति यानी तप की शक्ति का प्रतीक हैं। इनकी आराधना से भक्त की तप करने की शक्ति बढ़ती है। साथ ही, सभी मनोवांछित कार्य पूर्ण होते हैं।
🙏🏻 मां ब्रह्मचारिणी हमें यह संदेश देती है कि जीवन में बिना तपस्या अर्थात कठोर परिश्रम के सफलता प्राप्त करना असंभव है। बिना श्रम के सफलता प्राप्त करना ईश्वर के प्रबंधन के विपरीत है। अत: ब्रह्मशक्ति अर्थात समझने व तप करने की शक्ति हेतु इस दिन शक्ति का स्मरण करें। योगशास्त्र में यह शक्ति स्वाधिष्ठान चक्र में स्थित होती है। अत: समस्त ध्यान स्वाधिष्ठान चक्र में करने से यह शक्ति बलवान होती है एवं सर्वत्र सिद्धि व विजय प्राप्त होती है।
👉🏻 शेष कल………..

आज का राशिफ़ल 

मेष- सकारात्मक-स्थिति काफी अच्छी है। सुकुमारता, शुभता बढ़ रही है। ग्लैमर जगत से जुड़े लोगों के लिए सुनहरा अवसर है। नकारात्मक-अकारण चिंतित न रहें। प्रेम-अच्छी स्थिति है। व्यवसाय-अच्छी स्थिति है। सेहत-अच्छी स्थिति है। उपाय-काली जी का दर्शन करें। उन्हें प्रणाम करें।

वृषभ- सकारात्मक-शुभ कार्य हो सकते हैं। नकारात्मक-खर्च और स्वास्थ्य दोनों परेशान करेगा। यद्यपि की शुभ कार्यों में खर्च होगा। प्रेम-अच्छी स्थिति है। व्यवसाय-मध्यम स्थिति है। सेहत-उर्जा की कमी महसूस करेंगे। उपाय-कोई सफेद वस्तु अपने पास रखें। भगवान शिव का दर्शन करें।

मिथुन- सकारात्मक-निरंतर धनागम हो रहा है। प्रेम, व्यापार, संतान की बड़ी अच्छी स्थिति है। नकारात्मक-मानसिक चंचलता पर काबू रखें। प्रेम-अच्छी स्थिति है। व्यवसाय-अच्छी स्थिति है। सेहत-अच्छी स्थिति है। उपाय-काली मां को प्रणाम करें। उनका दर्शन करें।

कर्क- सकारात्मक-किसी महिला आफिसर से आपका काम बनेगा। किसी उम्रदराज महिला का आपको आर्शीवाद मिलेगा।
नकारात्मक-मन में व्यर्थ बातों को सोचकर दु:खी हो सकते हैं। पे्रम-बहुत अच्छी स्थिति है। व्यवसाय-बहुत अच्छी स्थिति है। सेहत-बहुत अच्छी स्थिति है। उपाय-मां भगवती को प्रणाम करें। उनके चरणों में शीश नवाएं।

सिंह- सकारात्मक-भाग्यवश कोई काम बनेगा। आप निरंतर अच्छी स्थिति में चल रहे हैं। आगे बढ़ें। नकारात्मक-क्रोध न करें। प्रेम-बहुत अच्छी स्थिति है। व्यवसाय-अच्छी स्थिति है। सेहत-बहुत अच्छी स्थिति है। उपाय-हनुमान जी का दर्शन करें।

कन्या- सकारात्मक-कोई बड़ा नुकसान नहीं होगा। नकारात्मक-चोट लग सकती है। किसी परेशानी में पड़ सकते हैं। थोड़ा बचकर पार करें। विपरीत परिस्थितियां दिख रही हैं। प्रेम-मध्यम स्थिति है। व्यवसाय-मध्यम स्थिति है।
सेहत-मध्यम स्थिति है। उपाय-हनुमान जी का दर्शन करें। लाल वस्तु का दान करें।

तुला- सकारात्मक-जीवन अच्छे दौर से गुजर रहा है। नए सम्बन्ध बनेंगे। शादी तय हो सकती है। नकारात्मक-मानसिक रूप से अस्थिरता से नुकसान हो सकता है। प्रेम-अच्छी स्थिति है। व्यवसाय-बहुत अच्छी स्थिति है। उपाय-अपनी मां को प्रणाम करें। मां भगवती को प्रणाम करें।

वृश्चिक- सकारात्मक-निर्णय लेने की क्षमता बनी रहेगी। नकारात्मक-क्रोध से नुकसान हो सकता है।
पे्रम-अच्छी स्थिति है। व्यवसाय-अच्छा चल रहा है। सेहत-यूरिन से सम्बन्धित परेशानी हो सकती है। शुगर लेवल बढ़ सकता है। उपाय-लाल वस्तु पास रखें। मां भगवती को प्रणाम करें।

धनु- सकारात्मक-विद्यार्थियों के लिए अच्छा समय है। एक्टिंग सीखने वालों के लिए अच्छा समय है। नकारात्मक-व्यर्थ की बातें सोचकर परेशान हो सकते हैं। प्रेम-अच्छी स्थिति है। व्यवसाय-अच्छी स्थिति है। सेहत-बहुत अच्छी स्थिति है।
उपाय-लाल वस्तु पास रखें। बजरंग बली का दर्शन करें।

मकर- सकारात्मक-भूमि, भवन, वाहन की खरीदारी का विशेष अवसर है। बहुत तरक्की कर रहे हैं। नकारात्मक-क्रोध पर काबू रखें। प्रेम-बहुत अच्छी स्थिति है। व्यवसाय-बहुत अच्छी स्थिति है। सेहत-बहुत अच्छी स्थिति है। उपाय-मां काली का दर्शन करें।

कुंभ- सकारात्मक-कामों को करने, व्यापार शुरू करने के लिए उत्तम समय है। भाई-बंधुओं, मित्रों का भी अच्छा समय दिख रहा है। उनके भाग्योदय से भी आपको लाभ है।
नकारात्मक-अनावश्यक चिंतित हो सकते हैं।
पे्रम-अच्छी स्थिति है।
व्यवसाय-अच्छी स्थिति है।
सेहत-अच्छी स्थिति है।
उपाय-गणेश जी की वंदना करें। लाल वस्तु दान करें।

मीन- सकारात्मक-धनागम होगा। कुटुम्बीजनों से लाभ मिल सकता है।
नकारात्मक-मानसिक चंचलता पर काबू रखें।
प्रेम-अच्छी स्थिति है।
व्यवसाय-अच्छी स्थिति है।
सेहत-अच्छी स्थिति है।
उपाय-बजरंग बली का दर्शन करें। भगवान शिव का जलाभिषेक करें।