3 मंत्रियो के साथ मुख्यमंत्री ने किया शपथ ग्रहण, कुछ मीडियाकर्मी नहीं जा पाए अंदर

0

रांची : हेमंत सोरेन ने आज दूसरी बार झारखंड के 11वें मुख्‍यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण किया। हेमंत सोरेन को झारखंड की राज्यपाल दौपद्री मुर्मू ने पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। सीएम के साथ ही तीन अन्य नेताओं ने भी मंत्री पद की शपथ ली।

https://www.facebook.com/HemantSorenJMM/videos/2745619855484417/

तीन अन्य नेताओं ने भी मंत्री पद की शपथ ली

राजद के एक व कांग्रेस के दो नेताओं ने भी मंत्रीपद की शपथ ली। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव, कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम और राजद के नेता सत्यानंद भोक्ता ने भी अपने पद और गोपनीयता की शपथ ली। मंत्रीमंडल के अन्य मंत्री खरमास के बाद शपथ ग्रहण करेंगे।

वहीं, अब साफ हो गया है कि अभी हेमंत सोरेन के मंत्रीमंडल में कांग्रेस के कोटे स 2 और राष्ट्रीय जनता दल के कोटे से एक विधायक को मंत्री मिला है। बता दें कि आरजेडी ने सात सीटों पर चुनाव लड़ा था और उसे एक सीट पर ही सफलता हासिल हुई है। जबकि कांग्रेस ने 16 सीटों पर जीत हासिल की है।
हेमंत सोरेन सूबे के 11वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। रांची के मोरहाबादी मैदान में भव्य आयोजन कर शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया गया है।

कई दिग्गज नेता हुए इस कार्यक्रम में शामिल

देश के कई दिग्गज नेता इस कार्यक्रम में शामिल हुए हैं। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी, तृणमूल कांग्रेस की केंद्रीय अध्यक्ष श्रीमती ममता बनर्जी, आरजेडी के कार्यकारी अध्यक्ष तेजस्वी यादव समेत अन्य कई दिगाज नेता इस शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए हैं।

गौरतलब है कि झारखंड विधानसभा चुनाव में हेमंत सोरेन के नेतृत्व में महागठबंधन को ऐतिहासिक जीत हासिल हुई है। वहीं, भारतीय जनता पार्टी (BJP)को हार का सामना करना पड़ा है। चुनाव में बीजेपी 25 सीटें जीतने में सफल हो पाई हैं। जबकि झारखंड के पूर्व सीएम रघुवर दास को भी चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है। रघुवर दास को बीजेपी के बागी नेता सरयू राय ने जमशेदपुर पूर्वी सीट से हराया है।

भीड़ के कारण अंदर नहीं जा पाए मीडियाकर्मी

मोरहाबादी मैदान में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण समारोह में करीब दो दर्जन मीडिया कर्मी पास होने के बावजूद शामिल नहीं हो पाए। मीडिया एंट्री गेट पर दोपहर 1:00 से 2:30 तक उन्हें इंतजार करना पड़ा। बाकी लोगों की भीड़ और अव्यवस्था के कारण मीडिया के लोगों को समारोह स्थल में एंट्री नहीं मिल सकी। मीडिया कर्मी लगातार अपने हाथों में एंट्री पास, कैमरा, माइक दिखाकर सुरक्षाकर्मियों से आग्रह करते रहे कि उन्हें अंदर जाने दिया जाए। लेकिन गेट पर तैनात जवान व मजिस्ट्रेट कुछ ना कर सके। 2:30 बजे शपथ ग्रहण खत्म हुआ, लोग बाहर निकलने लगे तब जाकर पुलिस ने गेट को खुला छोड़ दिया। जिसे मन हुआ वह अंदर गया बाकी लोग गेट से वापस लौट गये।