3 मई को लॉकडाउन नहीं हटाना चाहते हैं कई राज्य जानें कौन..

0

एजेंसी: देश के कई राज्यों में कोरोना का कहर जारी है प्रतिदिन इसके मरीजों की संख्या में वृद्धि हो रही है और 3 मई तक केंद्र सरकार की पूर्व निर्णय के साथ कई राज्यों ने भी लॉकडाउन की अवधि 3 मई तक जारी रखने का निर्णय लिया था लेकिन जिस तरह कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है तो अब राज्य सरकारें लॉकडाउन की अवधि और बढ़ाने के पक्ष में हैं क्योंकि जिस तरह कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है। इस स्थिति में लॉक डाउन हटने के बाद हालात पर काबू पाना मुश्किल होने की कई राज्यों को आशंका है। खास बात यह है कि तेलंगाना तो पहले ही 7 मई तक लॉक डाउन की अवधि बढ़ा चुकी है और कहा है कि 5 मई को पुनर्विचार के बाद तय किया जाएगा की लॉक डाउन की अवधि बढ़ेगी या लॉकडाउन खत्म किया जाएगा। वहीं महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री ने मुंबई और पुणे के कोरोना संक्रमितों की संख्या सबसे ज़्यादा होने के चलते 18 मई तक लाक डाउन बढ़ाने की सिफारिश की थी। ऐसे में कई राज्यों में लॉक डाउन बढ़ना तय माना जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दिल्ली सरकार ने कोरोना पर विचार करने के लिए एक कमेटी बनाई थी जिसने 16 मई तक लॉक डाउन दिल्ली में बढ़ाने की सिफारिश की थी। वहीं दूसरी ओर शनिवार को पांच और राज्य अपने यहां के हॉटस्पॉट्स में लॉक डाउन की अवधि बढ़ाने के पक्ष में हैं। जिनमें मुख्य रूप से उड़ीसा, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, पंजाब और महाराष्ट्र शामिल है।

वहीं दूसरी ओर कई राज्यों ने यह फैसला केंद्र पर डाल दिया है और कुछ राज्यों का कहना है कि सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के केंद्र शासित प्रदेशों और राज्यों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में फैसला लेंगे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तमिलनाडु कर्नाटक गुजरात आंध्र प्रदेश हरियाणा और हिमाचल प्रदेश ने केंद्र सरकार के पाले में फैसला डाल दिया जबकि बिहार असम और केरल प्रधानमंत्री के साथ सोमवार को होने वाली वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में लॉक डाउन की अवधि बढ़ाने या न बढ़ाने पर निर्णय लेने की बात कही है।

वहीं दूसरी ओर खबर है कि केंद्र सरकार भी राज्यों का पक्ष जानते हुए स्पेशल टीम बनाकर लाकडाउन आगे बढ़ाने पर समीक्षा और चर्चा करते हुए आगे बढ़ाने का विचार कर रही है लेकिनराज्यों में कोरोनावायरस मन की स्थिति को देखते हुए हैं छूट का दायरा बढ़ाया या घटाया जा सकता है। कई क्षेत्रों को कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए 3 मई के पश्चात लॉक डाउन से छूट भी दी जा सकती है।