पूर्व विधायक कुणाल षाड़ंगी के आग्रह के बाद केयू ने बीटेक फाइनल वर्ष की परीक्षा स्थगित

119

● छात्रों ने सोशल मीडिया पर कुणाल षाड़ंगी और कोल्हान विश्वविद्यालय का जताया आभार
● कोरोना संकट के बीच छात्रों की परीक्षा पर चिंता जाहिर करते हुए पूर्व विधायक ने किया था ट्वीट

काेराेना के दिनों दिन बढ़ते प्रभाव काे देखते हुए काेल्हान विश्वविद्यालय ने 8 अगस्त से शुरू हाेने वाले बीटेक आठवीं सेमिस्टर की परीक्षा काे अगले आदेश तक के लिए स्थगित कर दिया है। इससे संबंधित नाेटिफिकेशन विवि के परीक्षा नियंत्रक कार्यालय द्वारा मंगलवार काे जारी किया गया। इसमें कहा गया कि इस परीक्षा में शामिल हाेने वाले कई छात्र ऐसे हैं जाे बाहर फंसे हुए है। अगर वे इस दाैरान आते भी हैं ताे उन्हें सरकार के निर्देश के आलाेक में 14 दिन का हाेम क्वारेंटाईन में रहना हाेगा। ऐसे में परीक्षा कराना अभी संभव नहीं लगता है। अत: विवि परीक्षा काे अगले आदेश तक के लिए टालता है। विदित हो कि सोमवार को बीटेक के कई परीक्षार्थियों ने पूर्व विधायक सह भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता कुणाल षाड़ंगी से मुलाक़ात कर परीक्षा के आयोजन को अप्रासंगिक बताया था। इसपर चिंता ज़ाहिर करते हुए सोमवार को पूर्व विधायक कुणाल षाड़ंगी ने छात्रों की सुरक्षा और स्वास्थ्य पर संवेदनशीलता व्यक्त करते हुए ट्वीट किया था। सोमवार को अपनी ट्वीट के जरिये पूर्व विधायक ने कोल्हान विश्वविद्यालय से सवाल किया था कि तेज़ी से बढ़ते कोरोना संक्रमण में जब राज्य की सीमाओं पर प्रतिबंध है, सार्वजनिक यातायात के तमाम संसाधन ठप्प हैं, ऐसे में परीक्षा आयोजन की अप्रासंगिकता समझ से परे है। उन्होंने कहा कि दूसरे राज्यों में फंसे परीक्षार्थी कैसे आएंगे और उनके सुरक्षा के उपायों पर कोल्हान विश्वविद्यालय को चिंता करते हुए परीक्षा आयोजन के निर्णय पर पुनर्विचार करनी चाहिए। पूर्व विधायक ने राज्य के मुख्यमंत्री कार्यालय को भी मामले में संज्ञान लेने का आग्रह किया था। पूर्व विधायक के माँग का ही प्रतिफ़ल रहा कि अगले ही दिन मंगलवार को कोल्हान विश्वविद्यालय ने परीक्षा स्थगित करने की अधिसूचना जारी करते हुए छात्रों को सूचित किया है। मालूम हाे कि जमशेदपुर के साथ ही पूरे काेल्हान में काेराेना का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है और प्रतिदिन संक्रमण, मृत्यु के आंकड़ों में बढ़ोत्तरी हो रही है। अकेले जमशेदपुर में 922 से अधिक मरीज सामने आ चुके हैं। जबकि काेल्हान में यह संख्या अनुमानित 1300 के पास है। इससे जमशेदपुर में 18 से अधिक मरीजाें की माैत भी हाे चुकी है। ऐसे में छात्राें के हित काे देखते हुए यह परीक्षा स्थगित किये जाना उचित भी है। कोल्हान यूनिवर्सिटी के अधिसूचना के बाद छात्रों ने सोशल मीडिया पर ट्वीट और वीडियो संदेश जारी कर के केयू और पूर्व विधायक कुणाल षाड़ंगी के प्रति आभार व्यक्त किया