हेमंत सरकार का बड़ा फैसला : झारखंड के पारा शिक्षकों होंगे स्थायी, प्रस्ताव तैयार

310

राँची:- झारखंड के 65 हजार से अधिक पारा शिक्षकों को नियमित करने की प्रक्रिया शुरू हो गयी है। राज्य शिक्षा परियोजना की ओर से पारा शिक्षकों को नियमित करने का प्रस्ताव तैयार किया जा चुका है। संभावना है। कि इस प्रस्ताव पर सहमति के लिए शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो तक अगले सप्ताह फाइल भेज दी जायेगी।

इसके बाद शिक्षा मंत्री की अनुमति मिलने के बाद जरुरत पड़ने पर महाधिवक्ता से परामर्श ली जा सकती है। अगर सभी प्रक्रिया सही रही तो पारा शिक्षकों के नियमितीकरण पर बात बन सकती है।

राज्य के 65 हजार से अधिक पारा शिक्षक लंबे अरसे से नियमितीकरण की मांग कर रहे हैं। इसे लेकर पारा शिक्षकों की ओर से कई बार राज्यव्यापी आंदोलन भी किया जा चुका है। लगभग एक माह पूर्व पारा शिक्षकों के प्रतिनिधियों ने शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो के साथ बैठक की थी। इस बैठक में पारा शिक्षक प्रतिनिधियों ने सेवा को नियमित करने की मांग की थी

इसके बाद शिक्षामंत्री ने पारा शिक्षकों को नियमितीकरण करने की बात कही थी। शिक्षा मंत्री की ओर से दिलाये गये भरोसे से पारा शिक्षकों में उम्मीद जगी है। शिक्षा मंत्री के साथ हुई बैठक में सेवा शर्त नियमावली पर विचार किया गया। नियमावली में पारा शिक्षकों के स्थायीकरण व वेतनमान के लिए सीमित परीक्षा के स्वरूप पर अंतिम निर्णय नहीं लिया जा सका था।

पारा शिक्षकों की नियुक्ति को लेकर परीक्षा लेने की बात है। अबतक जो नियुक्ति नियमावली है उसके मुताबिक वैसे पारा शिक्षक जो शिक्षक पात्रता परीक्षा पास कर चुके हैं, उन्हें फिर से परीक्षा नहीं देनी होगी। ऐसे शिक्षक पात्रता परीक्षा सफल लगभग 13 हजार पारा शिक्षक हैं। वहीं जो पारा शिक्षक शिक्षक पात्रता परीक्षा पास नहीं है। उनके लिए विशेष परीक्षा लेने की बात है।