एफसीआई से अनाज नहीं मिल रहा है इसलिए खुले बाजार से खरीद कर गरीबों में बांट रहे: सीएम हेमंत

शेयर करें।

रांची: नीति आयोग के साथ बैठक में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बुधवार को कहा कि केंद्र और राज्य सरकारें एक दूसरे का सहयोग करें, तभी विकास के लिए जो लक्ष्य निर्धारित किए हैं उसे हासिल कर सकते हैं। वहीं सीएम ने फूड सिक्योरिटी को लेकर कहा कि, हम एफसीआई से अनाज लेना चाहते हैं, लेकिन FCI राज्य सरकारों को अनाज नहीं दे रहा है। हमें भी अनाज नहीं मिल रहा जिसका नतीजा है कि हमें खुले बजार से महंगे दामों पर अनाज लेकर गरीब लोगों को देना पड़ रहा है।हमारे साथ भी ऐसा हो रहा है।हमें जानकारी मिली है कि, कई अन्य राज्यों के साथ भी ऐसा हो रहा है।यह चिंता का विषय है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र द्वारा लाभुकों का जितना कोटा तय है, उससे कहीं ज्यादा लाभुकों को राशन की जरूरत है। इसलिए राज्य सरकार ने अपने स्तर पर राशन कार्ड जारी किए हैं, लेकिन राज्य सरकार के राशन कार्डधारियों के लिए अनाज सरकार को बाजार से खरीदना पड़ता है।फूड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा अनाज उपलब्ध नहीं कराया जाता है।ऐसे में नीति आयोग केंद्र सरकार के पास झारखंड की इस मांग को रखे कि राशन कार्डधारियों के लिए भी राज्य सरकार को एफसीआई से अनाज उपलब्ध कराया जाए।

नीति आयोग की बैठक में सीएम ने कहा कि संघीय ढांचे की मजबूती किे लिए जरूरी है कि, केंद्र और राज्यों की सर्वागीण विकास हो।

बैठक में मुख्यमंत्री ने कोयला मंत्रालय से जुड़े मामलों में कोल कंपनियों द्वारा जमीन अधिग्रहण के एवज में मुआवजा और कोयले पर राज्य सरकार को मिलने वाली रॉयल्टी से जुड़े मुद्दे को विशेष रूप से रखा. मुख्यमंत्री ने कहा कि विभिन्न कोयला कंपनियों का जमीन अधिग्रहण को लेकर लगभग 80 हज़ार करोड़ रुपये मुआवजा दिया जाना है, लेकिन मात्र 2,532 करोड़ रुपये राज्य सरकार और रैयतों को मुआवजा दिया गया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोल कंपनियां जो भी जमीन अधिग्रहित करती हैं, उसका मुआवजा मिलना चाहिए, भले ही उस पर खनन कार्य शुरू नहीं हुआ हो. इस पर कोयला मंत्रालय की ओर से पक्ष रखा गया।

वहीं नीति आयोग के सहयोग से यह सहमति बनी कि कोल कंपनियां कितनी जमीन अधिग्रहित कर चुकी हैं और कितना मुआवजा वितरित किया गया है, इसकी पूरी रिपोर्ट जल्द देगी. मुख्यमंत्री ने कोयला पर मिलने वाली रॉयल्टी बढ़ाने की मांग रखी और कहा कि राज्य सरकार को ज्यादा से ज्यादा कोल रॉयल्टी मिलनी चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में खनन कर रही कोल कंपनियां जब तक किसी कोल माइंस में पूरी तरह उत्पादन बंद करने का सर्टिफिकेट नहीं देती हैं तब तक नई जगह पर वह कोल खनन नहीं करें. मुख्यमंत्री ने कोयला खदानों में लगी भूमिगत आग के मुद्दे को भी रखा।

Video thumbnail
अमेरिकी पूर्व राष्ट्रपति ‌ डोनाल्ड ट्रंप पर कई राउंड फायरिंग बाल बाल ऐसे बचे दो हमलावर ढ़ेर
03:16
Video thumbnail
घटना के विरोध में बाजार रहा बंद, शांति समिति की बैठक कैम्प किये पुलिस पदाधिकारी
03:39
Video thumbnail
मेराल :वज्रपात होने से दो महिला एवं चार बकरियां की मौत, तीन महिला घायल
02:04
Video thumbnail
जनता की सपने को दो राजाओं ने बारी -बारी कुचलना का काम किया है:– पंकज चौबे
08:44
Video thumbnail
गढ़वा के मझिआंव में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने का प्रयास, प्रशासन ने संभाला मोर्चा
03:17
Video thumbnail
Garhwa:-अभिनंदन विजय संकल्प सभा में विरोधियों पर जमकर बरसे
06:33
Video thumbnail
गढ़वा! दो दिवसीय पलामू क्षेत्रीय पुलिस ड्यूटी मीट का हुआ समापन | Jharkhand varta
01:24
Video thumbnail
गढ़वा: सड़क निर्माण कंपनी में फायरिंग अपराधियों ने 4 से 5 राउंड की गोलीबारी
00:54
Video thumbnail
चेन छीन भाग रहे हिस्ट्रीशीटर अपराधी को महिलाओं ने बाइक से ऐसे गिराई, फिर धुनाई और पुलिस के हवाले
03:18
Video thumbnail
12 जुलाई को श्री बंशीधर नगर में भाजपा अभिनंदन विजय संकल्प सभा,विधायक भानु ने दी जानकारी
05:21
spot_img
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Related Articles

- Advertisement -

Latest Articles