रांची के बिरसा जैविक उद्यान में बना पुर्वी भारत का सबसे बड़ा “खुला तितली उद्यान”… पूरा होने में लगे 6 साल।

शेयर करें।

रांची :- यहां भगवान बिरसा जैविक उद्यान (बीबीबीपी) में पूर्वी भारत का सबसे बड़ा “खुला तितली उद्यान” (ओपन-एयर बटरफ्लाई पार्क) जल्द ही आम लोगों के लिए खोला जाएगा। चिड़ियाघर के एक वरिष्ठ अधिकारी ने रविवार को यह जानकारी दी।

रांची शहर से करीब 25 किलोमीटर दूर बिरसा चिड़ियाघर के रूप में लोकप्रिय बीबीबीपी के परिसर में यह उद्यान ‘एक्वैरियम’ के ठीक सामने 19 एकड़ भूमि पर निर्मित किया गया है। अधिकारी ने कहा कि तितली प्रेमियों को मनोरंजन के साथ-साथ शैक्षिक मूल्य प्रदान करने के उद्देश्य से इस उद्यान के पहले चरण का काम दो करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से लगभग पूरा हो चुका है। बिरसा चिड़ियाघर के निदेशक जब्बार सिंह ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘उद्यान में कुछ सौंदर्यीकरण और अन्य कार्य अभी जारी हैं। इसे एक-दो महीने में जनता के लिए खोला जाएगा।” उन्होंने कहा कि उद्यान को हरे-भरे क्षेत्र में विकसित किया गया है, जो आगंतुकों को पारिस्थितिकी में तितलियों के महत्व के बारे में जागरूक करने में मदद करेगा।

सिंह ने कहा कि अच्छी संख्या में तितलियों की उपस्थिति आदर्श प्राकृतिक वातावरण का सूचक है। वन्यजीव विशेषज्ञों ने कहा कि रांची, धनबाद और जमशेदपुर जैसे शहरी क्षेत्र वाहनों और उद्योगों की बढ़ती संख्या के कारण प्रदूषित हैं। इसलिए इस बाधा को कम करने के लिए तितली या पारिस्थितिकी उद्यान जैसे विषयगत उद्यान समय की मांग हैं। सिंह ने कहा कि झारखंड में तितलियों की 75 से अधिक प्रजातियां पाई जाती हैं और उद्यान में अनुकूल वातावरण तैयार किया जाएगा ताकि तितलियां प्राकृतिक रूप से विकसित हो सकें। चिड़ियाघर प्राधिकरण झारखंड में पाई जाने वाली अधिकांश प्रजातियों जैसे ट्वनी कोस्टर, सार्जेंट, बुश ब्राउन, बैरोनेट, प्लेन टाइगर, लेमन पैंसी, कॉमन सेलर और अन्य को उद्यान में रखने की कोशिश करेगा।

एक अधिकारी ने कहा कि उद्यान के पहले चरण को पूरा करने में करीब छह साल लग गए। तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुबर दास ने 29 जून, 2017 को उद्यान का शिलान्यास किया था। हालांकि, इस परियोजना पर काम की शुरुआत वर्ष 2020 में हुई। उन्होंने कहा कि इसके बाद कोविड-19 महामारी के कारण भी इस परियोजना में देरी हुई। अधिकारी ने कहा कि तितली उद्यान के रखरखाव पर सालाना 25 लाख रुपये का खर्च आएगा। रांची के ओरमांझी क्षेत्र में 104 हेक्टेयर क्षेत्र में फैले इस जैविक उद्यान में करीब 1,450 जानवर हैं जो स्तनधारियों, सरीसृपों और पक्षियों की 83 प्रजातियों से संबंधित हैं।

Video thumbnail
बीजेपी में शामिल होंगे यूट्यूबर मनीष कश्यप
01:13
Video thumbnail
भारत की 527 खाने की चीजों में मिला कैंसर वाला केमिकल
01:42
Video thumbnail
इंडी गठबंधन दल मिले लेकिन दिल नहीं मिले फिर कांग्रेस सपा आप में लात घूंसे ऐसे चले
01:56
Video thumbnail
उलगुलान महारैली के बाद अम्बा प्रसाद का बयान #ambaprasad #ulgulan #shorts #viral
00:51
Video thumbnail
इंसानियत हुई शर्मसार, दहेज के लिए विवाहिता को जेसीबी से बालू में किया दफ़न
01:43
Video thumbnail
देश के लिए दांव पर लगा दी जान - सुनीता केजरीवाल #arvindkejriwal #sunitakejriwal #shorts #viral
01:00
Video thumbnail
सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद बाबा रामदेव ने फिर मांगी माफी, अखबारों में छपवाया गया माफीनामा
01:36
Video thumbnail
DRDO ने बनाया कमाल का बुलेटप्रूफ जैकेट, स्नाइपर की गोलियां भी होंगी बेअसर
01:21
Video thumbnail
रोहिणी आचार्य के सम्राट चौधरी पर विवादित बयान पर बवाल, BJP पहुंची चुनाव आयोग
01:54
Video thumbnail
जेल में बंद केजरीवाल को पहली बार दिया गया इंसुलिन #arvindkejriwal #shorts #viral #tihadjail
00:25
spot_img
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Related Articles

- Advertisement -

Latest Articles