आगामी चुनाव अब INDIA V/S NDA होंगे! यूपीए हो गया विलुप्त..!

शेयर करें।

एजेंसी:एक ओर विपक्ष आगामी लोकसभा चुनाव के लिए अपने खेमे को मजबूत करने की कोशिश में लगा हुआ है इसी के तहत पहले बिहार की राजधानी पटना में विपक्षी दलों की बैठक हुई अब बेंगलुरु में विपक्षी दलों की बैठक हुई। जिसमें पहले से चल रहा है यूपीए महागठबंधन का नाम बदलकर अब INDIA रखने का निर्णय लिया गया। वहीं दूसरी ओर NDA भी अपने गठबंधन को मजबूत करने के लिए आज बैठक कर रहा है और अपने साथ ज्यादा दलों के होने का दावा भी ठोक रहा है। अब ऐसी स्थिति में आगामी लोकसभा चुनाव अब एनडीए वर्सेज यूपीए नहीं अपितु इंडिया वर्सेज एनडीए होगा!

प्राप्त जानकारी के अनुसार बेंगलुरु में आयोजित महागठबंधन के महामंथन से जो नाम निकल कर आया है वह है- INDIA यानी I-India, N-National, D-Democratic, I-Inclusive, A-Alliance. बता दें, शुरू में इस गठबंधन के नाम PDA देशभक्त जनतांत्रिक गठबंधन (Patriotic Democratic Alliance) कहा जा रहा था।

बता दें कि पूर्व में यूपीए को लोग खासकर कांग्रेस ही समझते थे। बेंगलुरु में आयोजित बैठक के बाद अब यूपीए के नाम से चल रहा है गठबंधन विलुप्त होकर उसका नया नाम इंडिया चलने की पुरजोर संभावना है।

लोकसभा चुनाव 2024 में नरेन्द्र मोदी की सरकार को रोकने के लिए कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में 26 पार्टियां गहन मंथन कर रही है। सभी पार्टियां मिलकर आगामी लोकसभा चुनाव की रणनीति तो बना ही रही है कि कैसे भाजपा की सरकार को सत्ता से बेदखल किया जाये। लेकिन उससे ज्यादा जरूरी यह है कि चुनाव लड़ने के लिए आपस में कौन-सी नीति तैयार करें ताकि उस पर सभी सहमत हों ज्यादा से ज्यादा सीटों पर कब्जा किया जा सके। कॉमन मिनिमन प्रोग्राम के साथ सीट शेयरिंग विपक्षी दलों का मुख्य मुद्दा है। इसी पर सोमवार को कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी ने डिनर डिप्लोमेसी की थी और आज उनका मंथन चल रहा है।

गौरतलब हो कि आगामी लोकसभा चुनाव के पूर्व सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों पूरी तैयारी में लगा है। वहीं कथित रूप से नरेंद्र मोदी को पटकनी देने के लिए तमाम विपक्ष आपस में एकजुट होने का आह्वान कर रहा है बैठक में हो रही है लेकिन विपक्ष के लिए यह इतनी आसान नहीं नजर आ रही है। इसके कई वजह चर्चे में हैं।

जिसमें मुख्य रुप से सीट शेयरिंग फार्मूला और कॉमन मिनिमम प्रोग्राम शामिल हैं। विधानसभा चुनाव में लोकसभा चुनाव में प्रदेश स्तर पर क्षेत्रीय पार्टियां मजबूत है और संभावना व्यक्त की जा रही है कि वह कतई वे सीटों पर कटौती की कुर्बानी नहीं करेगी। इसको लेकर विपक्षी एकता तार-तार होने की पूरी संभावना जताई जा रही है। इसके अलावा 2024 के आम चुनावों के लिए एक ऐसा कॉमन मिनिमम प्रोग्राम तैयार करना जिस पर सभी दल सहमत हों। कॉमन मिनिमम प्रोग्राम में कौन-कौन से बिन्दु हों इसकी ड्राफ्टिंग के लिए एक सब कमेटी स्थापित करना।

पार्टियों के सम्मेलनों, रैलियों और दो दलों के बीच के विरोधाभासों को दूर करने के लिए एक सब कमेटी तैयार करना।

राज्य में पार्टियों की स्थिति के आधार पर सीट शेयरिंग पर चर्चा करना।

ईवीएम के मुद्दे पर चर्चा करना और चुनाव आयोग को सुधार के लिए सुझाव देना।

गठबंधन के लिए एक नाम सुझाव देना।

प्रस्तावित गठबंधन के लिए एक सामान्य सचिवालय की स्थापना करना।

बहरहाल पहले भी विपक्षी एकता का दावा करते हुए यूपीए बनाया गया था लेकिन चुनाव आते-आते यूपीए तार तार हो जाता है। ठीक उसी प्रकार जैसे-जैसे चुनाव सामने आएगा और विपक्षी एकता कसौटी पर कितनी खरी उतरेगी। इस पर सभी की निगाहें हैं।

Video thumbnail
भाजपा में शामिल होने पर यूट्यूबर मनीष कश्यप ने कहा...
00:45
Video thumbnail
ममता भुइयां के नामांकन को लेकर समर्थकों में दिखा गजब का उत्साह, क्या कुछ कहा, सुनें
01:41
Video thumbnail
बीजेपी में शामिल होंगे यूट्यूबर मनीष कश्यप
01:13
Video thumbnail
भारत की 527 खाने की चीजों में मिला कैंसर वाला केमिकल
01:42
Video thumbnail
इंडी गठबंधन दल मिले लेकिन दिल नहीं मिले फिर कांग्रेस सपा आप में लात घूंसे ऐसे चले
01:56
Video thumbnail
उलगुलान महारैली के बाद अम्बा प्रसाद का बयान #ambaprasad #ulgulan #shorts #viral
00:51
Video thumbnail
इंसानियत हुई शर्मसार, दहेज के लिए विवाहिता को जेसीबी से बालू में किया दफ़न
01:43
Video thumbnail
देश के लिए दांव पर लगा दी जान - सुनीता केजरीवाल #arvindkejriwal #sunitakejriwal #shorts #viral
01:00
Video thumbnail
सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद बाबा रामदेव ने फिर मांगी माफी, अखबारों में छपवाया गया माफीनामा
01:36
Video thumbnail
DRDO ने बनाया कमाल का बुलेटप्रूफ जैकेट, स्नाइपर की गोलियां भी होंगी बेअसर
01:21
spot_img
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Related Articles

- Advertisement -

Latest Articles